प्रतिदिन मध्यप्रदेश करेंट अफेयर्स- 11 सितंबर 2019

MP Daily Current Affairs-11 September 2019

Madhya Pradesh Current Affairs-Quiz/MCQ
UPSC/SSC/IBPS Exam/PCS Exam

01.मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री आवास मिशन (शहरी) का 'ध्येय वाक्य' क्या है:-
(a) सबको मिले मकान है यह लक्ष्य हमारा
(b) सबको मिले मकान है यह लक्ष्य सबका
(c) सबको मिले मकान है यह लक्ष्य महान
(d) सबको मिले मकान है यह लक्ष्य मध्यप्रदेश का

☀(c) सबको मिले मकान है यह लक्ष्य महान
 
♦ मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने 11 सितंबर 2019 को को झाबुआ से प्रदेश के शहरी आवासहीनों को आवास उपलब्ध कराने की अति-महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री आवास मिशन (शहरी) का शुभारंभ किया। अब मलिन बस्तियों में रहने वाले आवासहीन भी मकान मालिक बनेंगे। मिशन में 5 लाख आवास बनाये जायेंगे। कार्यक्रम में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह भी शामिल हुए।

♦ मुख्यमंत्री आवास मिशन में प्रति आवास एक से डेढ़ लाख रूपये लागत तक की भूमि का नि:शुल्क स्वामित्व और आवास निर्माण के लिए अन्य योजनाओं में कन्वर्जेंस से प्रति आवास 2 लाख 50 हजार रूपये अनुदान दिया जायेगा।

♦ मलिन बस्तियों के हितग्राहियों को 3 लाख रूपये प्रति आवास और अन्य हितग्राहियों को डेढ़ लाख रूपये अनुदान दिया जायेगा।

♦ भूमि एवं अधोसंरचना विकास कार्यों के लिए प्रति आवास एक लाख 75 हजार से 2 लाख 25 हजार रूपये तक दिये जायेंगे।

02.मध्यप्रदेश में ‘फ्लाई एश प्रबंधन राष्ट्रीय कार्यशाला’ का आयोजन कहां किया जाना है:-
(a) अनूपपुर
(b) झाबुआ
(c) सिंगरौली
(d) मंडला

☀(c) सिंगरौली
 
♦ सिंगरौली में थर्मल पॉवर संयंत्रों की राख का पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से बेहतर प्रबंधन विषयक राष्ट्रीय कार्यशाला का शुभारंभ 14 सितंबर 2019 से किया जाएगा

♦ कार्यशाला का उद्घाटन पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा करेंगे

♦केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने थर्मल पॉवर संयंत्रों से उत्पन्न राख के उपयोग के संबंध अधिसूचना जारी की है।

♦ इसके अन्तर्गत राज्य सरकार ने उच्च स्तरीय समिति गठित की है। समिति में प्रमुख सचिव आवास एवं पर्यावरण, प्रमुख सचिव लोक निर्माण, आयुक्त मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल, सचिव ऊर्जा, सचिव खनिज साधन तथा सदस्य सचिव मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड शामिल हैं।

03.मध्यप्रदेश के 21 जिलों में घर बैठे भू-अभिलेख प्राप्त करने की सुविधा कब से शुरुआत हुई:-
(a) 08 सितंबर 2019
(b) 09 सितंबर 2019
(c) 10 सितंबर 2019
(d) 11 सितंबर 2019

☀(d) 11 सितंबर 2019
 
♦ 21 जिलों के लोक सेवा केन्द्रों पर आज 11 सितम्बर 2019 से डिजिटल हस्ताक्षरित भू-अभिलेख की प्रतिलिपियाँ ( बंधक,दर्ज खसरा, व्यपवर्तन प्रमाण पत्र ) मिलना शुरू हो गया है। आम जन प्रतिलिपियाँ प्राप्त करने के लिये ऑनलाईन आवेदन कर घर बैठे प्रतिलिपि प्राप्त कर सकते हैं।

♦ किसानों को अब तहसील कार्यालय में आकर बंधक दर्ज कराने की जरूरत नहीं है।

♦ भू-अभिलेख प्रतिलिपि के लिये आवेदन नि:शुल्क रहेगा। राज्य शासन ने 1 अगस्त 2019 से प्रतिलिपि प्रदाय की दरों का सरलीकरण भी कर दिया है। अब एक साला और पाँच साला खसरा या खाता जमाबेंदी, अदिकार अभिलेख, खेवट, वाजिब-उल-अर्ज, निस्तार पत्रक और ए4 आकार में नक्शे की प्रति के पहले पृष्ठ के लिये 30-30 रूपये और अतिरिक्त पृष्ठ के लिये 15-15 रूपये का शुल्क देना होगा

04.मध्यप्रदेश संस्कृति विभाग का वर्ष 2018 का हिंदी साहित्य शिखर सम्मान किसे दिया गया है:-
(a) श्री स्वयं प्रकाश
(b) श्री नरेन्द्र जैन
(c) श्री शशांक
(d) डॉ. राहत इंदौरी

☀(c) श्री शशांक
 
♦ शिखर सम्मान - हिंदी साहित्य

2016-श्री स्वयं प्रकाश
2017-श्री नरेन्द्र जैन
2018-श्री शशांक
♦ शिखर सम्मान - उर्दू साहित्य(2017)-डॉ. राहत इंदौरी

♦ शिखर सम्मान केवल मध्यप्रदेश के कलाकारों और साहित्यकारों को ही दिया जाता है।

♦ पुरस्कार की राशि-एक लाख की राशि